नमस्तेस्तु चित्रगुप्ते, यमपुरी सुरपूजिते |
लेखनी-मसिपात्र, हस्ते, चित्रगुप्त नमोस्तुते ||

Our character is shaped by our thoughts. Thoughts leave impressions on our mind. These impressions are hidden pictures (गुप्त चित्र). Those who can decipher these impressions,can know past, present and future of yours; and is known as चित्रगुप्त. He, the चित्रगुप्त, lives within or in pious Guru, capable to decipher your life and guide you for path ahead.

कौन है चित्रगुप्त?

“एक दिव्य देव शक्ति जो चिन्तान्त: करण में चित्रित चित्रों को पढ़ती है, उसी के अनुसार उस व्यक्ति के जीवन को नियमित करती है, अच्छे-बुरे कर्मो का फल भोग प्रदान करती है, न्याय करती है। उसी दिव्य देव शक्ति का नाम चित्रगुप्त है।”